मंगलवार, 24 अप्रैल 2018 | 02:18 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | देश | आरएसएस ने यूपी की बीजेपी सरकार को क्यों दी नसीहत ?

आरएसएस ने यूपी की बीजेपी सरकार को क्यों दी नसीहत ?


बीजपी और संघ एक दूसरे के पूरक हैं और हमेशा से एक दूसरे को ध्यान में रखते हुए ही काम करते हैं, लेकिन अब संघ को बीजेपी की नीतियों से परेशानी होने लगी है और इसका जीता जागता उदाहरण योगी सरकार में देखने को मिल रहा है। जी हाँ, आरएसएस ने योगी राज में हो रही अधिकारियों की मनमनी को लेकर आपत्ति जताई है, साथ ही जमकर लताड़ लगाने के साथ ठीक तरह से काम करवाने की नसीहत भी दी है, जिसके बाद योगी सरकार सवालों के घेरे में आ गई है।

 

 

जी हाँ, आपको बता दें कि योगी और संघ मीटिंग करके अक्सर देश की राजनीति को लेकर चर्चा करते रहते हैं और इस बार भी दोनों मिलकर च्रर्चा कर रहे थे, लेकिन इसी दौरान आरएसएस ने पार्टी और सरकार के उन मतभेदों पर चिंता जाहिर की है, जो सार्वजिनिक हो रहे हैं। संघ ने गंभीरता से लेते हुए सख्त लहजे में कहा है कि संगठन और सरकार में किसी तरह के मतभेद सार्वजनिक रूप से सामने नहीं आने चाहिए। इससे पार्टी और सरकार दोनों की ही किरकिरी होती है। आपको बता दें, पिछले दिनों सीएम योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव मौर्य के बीच मतभेद की चर्चाएं सामने आई थीं। संघ ने बैठक में साफ कर दिया है कि अधिकारी अपनी मनमानी कर रहे हैं। सरकार ऐसे मनमानी करने वाले अधिकारियों को चिन्हित करे और लगाम लगाए। बैठक में कार्यकर्ताओं की जारी उपेक्षा पर भी संघ ने गहरी चिंता जाहिर की। पार्टी और सरकार से साफ तौर पर कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं को नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। कार्यकर्ताओं की नाराजगी को हर हाल में पार्टी और सरकार दूर करे, जिस तरह से संघ ने योगी को नसीहत दी है, उसे देखकर तो ऐसा लगता है कि योगी राज में कुछ तो गलत हो रहा है जिसे लेकर लगता है कि संघ योगी सरकार को समय रहते ही अपनी नीतियों को बदलने की नसीहत दे रहे है। अब ये देखना काफी दिलचस्प होगा कि विपक्ष इस मामले पर क्या प्रतिक्रिया देता है।

 

 

 

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: