शनिवार, 18 नवंबर 2017 | 11:51 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
होम | मनोरंजन | कमल हासन ने हिन्दुओं को क्यों कहा ‘आतंकवादी’?

कमल हासन ने हिन्दुओं को क्यों कहा ‘आतंकवादी’?


तमिलनाडू के लोकप्रिय सुपर स्टार कमल हासन के एक लेख ने हिन्दुओं के वजूद पर कुछ ऐसे सवाल खड़े कर दिये। कमल हासन के इस लेख ने देश में छिड़े बहस के सिलसिले में एक और मुद्दा जोड़ दिया। अभिनेता के बाद बतौर नेता नई पारी शुरूआत की अटकलों के बीच कमल हासन ने 'हिंदू आतंकवाद' पर नई बहस छेड़ दी है। तमिल साप्ताहिक पत्रिका 'आनंदा विकटन' में लिखे अपने लेख में हासन ने लिखा है, कि “राइट विंग ने अब मसल पावर का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है”। उन्होंने आरोप लगाया कि “राइट विंग हिंसा में शामिल है और हिंदू कैंपों में आतंकवाद घुस चुका है”। लेख में हासन ने लिखा, कि “कोई नहीं कह सकता कि हिंदू आतंकवाद का वजूद नहीं है”। साथ ही उन्होंने लिखा कि हिंदू कट्टरपंथी पहले बातचीत में यकीन रखते थे, लेकिन अब हिंसा में शामिल हैं। लोगों की 'सत्यमेव जयते' में आस्था खत्म हो चुकी है। इसके अलावा हासन ने लेख में जमकर केरल सरकार की तारीफों के पुल बांधे। उन्होंने लिखा कि “केरल सांप्रदायिक हिंसा से तमिलनाडु के मुकाबले बेहतर ढंग से निपटा है”।

 

कमल हासन के इस लेख से 'हिंदू आतंकवाद' पर एक बार फिर बहस छिड़ गई है, जिसको लेकर बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने हासन की आलोचना करते हुए उन्हें नैतिक तौर पर भ्रष्ट बताया है। स्वामी ने कहा कि “अभी तक 'हिंदू आतंकवाद' के कोई सबूत नहीं हैं। तो वहीं, केरल वाले बयान  से भड़के बीजेपी के कई नेताओं ने कहा कि केरल को आप हिंसा से अनछुआ नहीं कह सकते हैं। जिस तरह से कमल हासन ने हिन्दुओं को आतंकिये से जोड़ा है, वो वाकई में देश की राजनीति को गर्म कर रहा है, जो देश की राजनीति में नया भूचाल लाएगा। अब ये देखना काफी दिलचस्प होगा कि बीजेपी-कांग्रेस इस नये मुद्दे पर क्या जवाब देती है? 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: