बुधवार, 24 अक्टूबर 2018 | 04:24 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | खेल | भारत-श्रीलंका के थर्ड टेस्ट मैच में क्यों भड़के कोच शास्त्री?

भारत-श्रीलंका के थर्ड टेस्ट मैच में क्यों भड़के कोच शास्त्री?


टेस्ट क्रिकेट के 140 वर्ष के इतिहास में यह पहली घटना है, जब अंतरराष्ट्रीय टीम को प्रदूषण के कारण मास्क पहनकर फील्डिंग करना पड़ी हो। जी हां, हम बात कर रहे हैं दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में खेले जा रहे भारत और श्रीलंका के तीसरे टेस्ट मैच की, जहां श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने प्रदूषण से हवा की गुणवत्ता खराब होने की शिकायत से खेल रोका था। इसके बाद उन्होंने खेल जारी रखने से इनकार कर दिया था, जिसे मिलाककर तीन मौकों पर खेल 26 मिनट के लिए रोका गया। 


मैच दोबारा शुरू हुआ और रविंचद्रन अश्विन (4) का विकेट गिरा। इसी बीच कप्तान कोहली भी अपने टेस्ट करियर के सर्वश्रेष्ठ स्कोर 243 रन बनाकर आउट हो गए। कोहली की पवेलियन वापसी के बाद एक बार फिर से खेल रुका, जिसमें 127वें ओवर में श्रीलंका के टीम मैनेजर असंका गुरुसंहा मैदानी अंपायरों से कुछ शिकायत करने लगे। इससे भड़के भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने मैदान पर कदम रखा और मैदान में तैनात अंपायरों से बात की। 

 

मैदान पर शास्त्री की अंपायरों से क्या बात हुई, इस पर गेंदबाजी कोच ने कहा कि रवि ने साफ तौर पर कहा था कि मैच को जारी रखें, रोकें नहीं। पांच मिनट तक खेल रुकने के बाद मैच एक बार फिर शुरू हुआ, लेकिन पांच गेंद बाद श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांदीमल ने 10 खिलाड़ी होने के कारण मैच रोक दिया और इसी बीच श्रीलंका टीम के कोच निक पोथास मैदान पर आकर अंपायरों से बात करने लगे। भारतीय ड्रेसिंग रूम से कोहली ने परेशान होकर पारी घोषित कर दी। इससे साफ है कि जिस तरह से श्रीलंकाई खिलाड़ी ड्रामा कर रहे थे, उससे भारतीय कोच और कप्तान का गुस्सा जायज था।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: