मंगलवार, 20 फ़रवरी 2018 | 11:31 IST
जितना कठिन संघर्ष होगा, जीत उतनी ही शानदार होगी
होम | उत्तराखंड | आतंकी हमले में शहीद हुआ उत्तराखंड का बेटा

आतंकी हमले में शहीद हुआ उत्तराखंड का बेटा


जम्मू कश्मीर के सुजवां में दो दिन पहले एक आतंकी हमला हुआ था जिसमें आतंकियों से लोहा लेते हुए हवलदार राकेश रतूड़ी गंभीर रूप से घायल हो गए थे, लेकिन सेना के अस्पताल में इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया, इस तरह उत्तराखंड का एक और बेटा आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गया।

 


आपको बता दें, जवान राकेश रतूड़ी मूलरूप से पौड़ी गढ़वाल के पाबौ ब्लॉक की बाली कंडारस्यूं पट्टी स्थित सांकर सैंण गांव के रहने वाले थे। सालभर पहले ही उन्होंने प्रेमनगर के बड़ोवाला में घर बनाया था। वह अपने पीछे पत्नी नंदा देवी और दो बच्चों नितिन और किरण को छोड़कर चले गए हैं। उनका बेटा नितिन (17 वर्ष) एसजीआरआर पटेलनगर में कक्षा ग्यारह का छात्र है। तो वहीं बेटी किरण पत्राचार से बीए कर रही। शहीद के चाचा शेखरानंद रतूड़ी ने बताया कि महार रेजीमेंट में तैनात राकेश साल 1996 में फौज में भर्ती हुए थे। उनकी शिक्षा राइंका सांकर सैंण में हुई। वह तीन जनवरी को छुट्टी पर आए थे और 9 जनवरी को वापस चले गए। पिछले तीन दिन से उनका फोन नहीं उठ रहा था। जिस कारण परिवार चिंतित था, लेकिन कल रात उन्हें राकेश की शहादत की खबर मिली। 


मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सुजवां आर्मी कैम्प पर हुए आतंकी हमले में उत्तराखंड के जवान राकेश चन्द्र रतूड़ी की शहादत पर गहरा दुख जताया है और शहीद के परिवार को हर संभव मदद का भरोसा दिलाया है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: