रविवार, 19 नवंबर 2017 | 10:22 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
होम | उत्तराखंड | कैशलेस सिस्टम की तैयारियों में जुटा उत्तराखंड परिवहन विभाग

कैशलेस सिस्टम की तैयारियों में जुटा उत्तराखंड परिवहन विभाग


प्रधानमंत्री मोदी की डिजिटल इंडिया मुहीम का असर देश के राज्यों में देखने को मिल रहा है, जिससे सबक लेते हुए उत्तराखंड परिवहन विभाग ने कैशलेस सिस्टम की तैयारियां शुरु की हैं। जल्द ही उत्तराखंड के परिवहन विभागों में लागू होने वाले कैशलेस सिस्टम के तहत कार्यालय प्वाइंट ऑफ सेल यानी पीओएस का उपयोग कर सकेगा।

माना जा रहा है कि कैशलेस सिस्टम के पीछे उत्तराखंड सरकार का मकसद उपभोक्ताओं को जागरुक करके ई-लेन देन को बढ़ावा देना है। सरकार का कहना है कि ऐसा करके न सिर्फ कार्यालयों में नकद पैसा रखने और ट्रेजरी में जमा जैसी समस्याओँ से छुटकारा मिलेगा, बल्कि समय की बचत भी हो सकेगी। बता दें कि मौजूदा वक्त में उत्तराखंड परिवहन के छोटे कार्यालयों में सभी विभागों में पांच से छह लाख और बड़े विभागों में इससे दुगना कैश जमा होता है। कई बार कैश जमा करते वक्त नकली नोट की समस्या और जमा केश की सुरक्षा अधिकारियों के लिए परेशानी का सबब बन जाती है, जिससे निदान के लिए प्रदेश सरकार ई-लेन लागू करने का मन बना रही है। कई बार इसका खामियाज़ा विभाग अधिकारियों को अपनी जेबें ढ़ीली करके चुकाना पड़ता है। खबरों की मानें, तो डिजिटल लेनदेन के ज़रिए पारदर्शी लेन-देन अपनाने के लिए परिवहन विभाग पहले ही स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से इस बाबत बातचीत कर चुका है, जिसके लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ही परिवहन विभागों को पीओएस मशीनें उपलब्ध करायेगा।  जल्द ही लागू होने वाली इस मुहीम से जुड़कर उपभोक्ता आगामी दिनों में घर बैठे ही टैक्स जमा का भुगतान कर सकेंगे। 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: