शुक्रवार, 16 नवंबर 2018 | 07:54 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | उत्तराखंड | नचिकेता ताल की खूबसूरती देखने के लिए नहीं पहुंच रहे पर्यटक

नचिकेता ताल की खूबसूरती देखने के लिए नहीं पहुंच रहे पर्यटक


उत्तराखंड अपनी खूबसूरती के जाना जाता है, यहां पर कई ऐसी जगहें हैं, जिसे देखने के लिए लाखों की संख्या में लोग पहुंचते हैं, लेकिन वहीं एक स्थान ऐसा भी है, जहां बड़ी संख्या में पर्यटक नहीं पहुंच रहे हैं। जी हां, हम बात कर रहे हैं उत्तरकाशी व टीहरी जिले की सीमा पर स्थित नचिकेता ताल की, जिसकी सुदंरता की दीदार से पर्यटक महरूम हैं। जबकि, नचिकेता ताल ठंड के मौसम में पर्यटन स्थलों में अपना विशेष स्थान रखता है। यहां आने वाले पर्यटकों के लिए वन विभाग ने दस रुपये प्रति पर्यटक प्रवेश शुल्क रखा है, लेकिन इसके बावजूद इस सीजन अब तक मात्र सौ पर्यटक ही नचिकेता ताल पहुंच पाए।

 


बता दें, उत्तरकाशी जिला मुख्यालय से 29 किमी दूर स्थित चौरंगीखाल तक सड़क मार्ग है, फिर वहां से तीन किमी पैदल दूरी तय कर नचिकेता ताल पहुंचा जाता है। 1200 वर्ग किमी क्षेत्र में फैली यह एक बेहद खूबसूरत झील है, जिसके चारों ओर मोरू, बांज, बुरांश व चीड़ का घना वन है। वन विभाग ने झील के चारों ओर टहलने के लिए रास्ता भी बनाया हुआ है, लेकिन जरूरी सुविधाओं के अभाव के चलते उसकी खूबसूरती देखने पर्यटक यहां नहीं पहुंच पा रहे। जबकि, इन दिनों नचिकेता ताल के आसपास का बुग्याली क्षेत्र बर्फ से ढका हुआ है। तीन वर्ष पहले उत्तरकाशी भ्रमण के दौरान तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने नचिकेता ताल जाने वाले रास्तों को बेहतर बनाने और वहां पर्यटकों के लिए विश्राम गृह बनाने के निर्देश दिए थे, लेकिन अब तक इस पर कोई अमल नहीं हुआ है।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: