शनिवार, 16 दिसम्बर 2017 | 06:21 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
विजय दिवस के मौके पर शहीदों को दी श्रद्धांजली।           अध्यक्ष बनते ही बीजेपी पार्टी पर तगड़े तंज: राहुल गांधी           राहुल गांधी बने कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष।          कोयला घोटाले में मधु कोड़ा को 3 साल की सजा, 25 लाख का जुर्माना           तीन तलाक दिया तो 3 साल की सजा होगी ।          केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ट्रिपल तलाक बिल को दी मंजूरी          राहुल गांधी की ताजपोशी 16 दिसंबर को होगी।          कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष बनने जा रहे है राहुल गांधी          हिमाचल प्रदेश व गुजरात विधानसभा चुनावों के फैसले 18 दिसंबर को होंगे जारी।          राज्यसभा में विपक्षी दलों का हंगामा।          लोकसभा 18 दिसंबर तक के लिए स्थगित ।          18 दिसंबर को होगा फैसला: भाजपा या कांग्रेस         
होम | देश | ‘ओखी’ चक्रवात की चपेट में मुंबई के बाद अब गुजरात

‘ओखी’ चक्रवात की चपेट में मुंबई के बाद अब गुजरात


चक्रवाती तूफान 'ओखी' ने दक्षिण भारत के करेल, तमिलनाडू और मुंबई में तबाही मचाने के बाद अब गुजरात में दस्तक दे रहा है। जानकारी के मुताबिक 'ओखी' की वजह से सोमवार शाम मुंबई में जमकर बारिश हुई। इस कारण राज्य सरकार ने स्कूलों और कॉलेजों में छुट्टी की घोषणा कर दी। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) की मुंबई ऑब्जर्वेटरी द्वारा चेतावनी देने के बाद राज्य सरकार ने सिंधुदुर्ग, ठाणे, रायगढ़ और पालघर के स्कूलों में छुट्टी की घोषणा कर दी।

वही दूसरी ओर गुजरात में ओखी का दस्तक दे रहा है। बताया जा रहा है कि दक्षिण-पश्चिम की ओर 670 किलोमीटर की दूरी पर है कोस्ट गार्ड अधिकारियों के अनुसार, ओखी चक्रवात सूरत की ओर 85 किलोमीटर की रफ्तार से बढ़ रहा है।

साथ ही मध्य रेलवे मुंबई डिविजन के मुताबिक राहत बचाव कार्य में प्रयोग होने वाली दुर्घटना राहत ट्रेन, दुर्घटना राहत मेडिकल वैन आदि जरूरी चीजों का प्रबंध कर लिया गया है। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि 250 से ज्यादा रेलवे पुलिस बल और महाराष्ट्र राज्य सुरक्षा बल के लोगों को भी भीड़ नियंत्रण और अन्य कार्यों के लिए स्टेशन में तैनात कर दिया गया है।

जानकारी क मुताबिक महाराष्ट्र तट और मुंबई के भारतीय तट रक्षक बल (आईसीजी) ने सोमवार को अरब सागर से 19 मछुवारों को सुरक्षित निकाला है। जानकारी के लिए बता दे कि 26 नवंबर को श्रीलंका के पास से ओखी चक्रवात उठा था, जो धीरे-धीरे केरल पहुंच गया। चक्रवात से समुद्र में मछली पकड़ने गए सैकड़ों मछुआरे लापता हो गए, जिनकी तलाश जारी है। महाराष्ट्र के कुछ भागों में चक्रवात का असर देखने को मिला है। महाराष्ट्र से भले ही ओखी का खतरा लगभग टल चुका है, पर सूरत की ओर बढ़ता यह चक्रवात तेल के कुओं पर गहरा असर डाल सकता है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: