शनिवार, 16 दिसम्बर 2017 | 12:47 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
अध्यक्ष बनते ही बीजेपी पार्टी पर तगड़े तंज: राहुल गांधी           राहुल गांधी बने कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष।          कोयला घोटाले में मधु कोड़ा को 3 साल की सजा, 25 लाख का जुर्माना           तीन तलाक दिया तो 3 साल की सजा होगी ।          केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ट्रिपल तलाक बिल को दी मंजूरी          राहुल गांधी की ताजपोशी 16 दिसंबर को होगी।          कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष बनने जा रहे है राहुल गांधी          हिमाचल प्रदेश व गुजरात विधानसभा चुनावों के फैसले 18 दिसंबर को होंगे जारी।          राज्यसभा में विपक्षी दलों का हंगामा।          लोकसभा 18 दिसंबर तक के लिए स्थगित ।          18 दिसंबर को होगा फैसला: भाजपा या कांग्रेस         
होम | सेहत | अच्छी नींद में छुपा है आपकी ख़ूबसूरती का राज़

अच्छी नींद में छुपा है आपकी ख़ूबसूरती का राज़



ब्यूटी स्लीप' या 'नींद से ख़ूबसूरती बढ़ने' की बात कोई कोरी कल्पना नहीं है। वैज्ञानिकों के मुताबिक है कि जो लोग अपनी नींद में किसी वजह से कटौती करते हैं या पूरी नींद नहीं लेते वे दूसरे लोगों को कम आकर्षित करते हैं। ऐसे लोगों के सोने के तौर तरीकों पर किए गए अध्ययन से पता चलता है कि एक-दो रातों की ख़राब नींद किसी भी शख़्स के चेहरे का आकर्षण बिगाड़ने के लिए काफ़ी है। आंखों के इर्द-गिर्द काले घेरे और सूजी हुई आंखों के और भी ख़राब नतीजे हो सकते हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि इनकी वजह से दूसरे लोग आपके साथ घुलने-मिलने से कतरा सकते हैं। इसके लिए अजनबियों से थके चेहरे वाले लोगों के बारे राय ली गई और ये पाया गया कि वे उन्हें कम स्वस्थ और दोस्ताना समझते हैं। शोधकर्ताओं ने प्रयोग के लिए यूनिवर्सिटी के 25 छात्रों को चुना. इनमें से कुछ पुरुष थे और कुछ महिलाएं। आपको बता दें कि शोध में स्वैच्छिक रूप से भाग लेने वाले इन छात्रों को एक किट दिया गया ताकि रात में उनकी गतिविधियों पर नज़र रखी जा सके। पहले उन्हें दो लगातार रातों को अच्छी नींद लेने के लिए कहा गया और फिर हफ्ते भर बाद इसी तरह से केवल चार घंटे सोने के लिए कहा गया। इस तरह से दोनों ही बार इन छात्रों की तस्वीरें ली गईं और इसके बाद स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में 122 अजनबी लोगों से इन तस्वीरों को दिखाकर राय मांगी गई। और इन अजनबी लोगों से ये भी पूछा कि आप इन छात्रों से किस हद तक घुलना-मिलना पसंद करेंगे। अजनबियों के जवाबों ने शोध के नतीजों की बुनियाद रखी. थके लोगों के साथ घुलने-मिलने को लेकर लोगों की राय नकारात्मक थी.

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: