शनिवार, 20 अक्टूबर 2018 | 01:57 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | देश | लक्ष्य सेन ने रचा इतिहास. एशिया जूनियर चैंपियनशिप 2018

लक्ष्य सेन ने रचा इतिहास. एशिया जूनियर चैंपियनशिप 2018


लक्ष्य सेन भारत के जुनियर बैडमिंटन खिलाड़ी है| उन्होंने हालहि में एशिया जूनियर बैडमिंटन चैपियनशिप 2018 मे गोल्ड जीता और इतिहास रच दिया| भारत को उन पर बहुत गर्व है उन्होनें सिर्फ 16 साल की आयु में उन्होंने गोल्ड मेडल जीता है| 16 वर्षीय लक्ष्य ने दुनिया के नंबर -1 थाईलैंड के कुनलावुत वितिसरन को सीधे एक सेटों मे 21-19,21-18 से हराया है| लक्ष्य सैन अपने करियर का सबसे बड़ी जीत है| अपको बता दें कि, भारत के 53 साल बाद किसी भारतीय ने यह मेडल जीत हासिल किया है| और साथ मे लक्ष्य पुर्व चैंपियन गौतम ठक्कर और पीवी सिंधु के साथ स्पेशल क्लब मे शामिल हो गए है| लक्ष्य पहले भी जीत हासिल की थी वो थे,गौतम ठक्कर और पीवी सिंधु इन्होंने भी गोल्ड मेडल जीता था| गौतम ठक्कर 1965 मे यह जीत हासिल की थी और पीवी सिंधु ने 2012 मे गोलड जीत कर यह कमयाबी हासिल की| लक्ष्य ने बताया कि, उनके साथ खेलने वाली टीम से उन्हे कड़ी चुनौती मिली थी| क्वार्टर फाइनल में लक्ष्य ने चीन के दो खिलाड़ियो को 21-14,21-12 से हराया था| और सेमीफाइनल मे इक्शान लियोनर्डो इमानुल रूम्बे को 21-17,21-14 से हरा फाइनल जीत हासिल की भारतीय बैडमिंटन संघ ने उनको 10 लाख रूपये देने की घोषणा की है | लक्ष्य का यह थाईलैंड के साथ पहला खेल था| उन्होंने इसे पहले एशियाई जूनियर चैम्पियन्शिप में कांस्य पद जाता था|  



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: