मंगलवार, 24 अप्रैल 2018 | 02:14 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | खेल | शिखर धवन को टेस्ट टीम में खिलाना विराट के लिए बनी मजबूरी

शिखर धवन को टेस्ट टीम में खिलाना विराट के लिए बनी मजबूरी


साउथ अफ्रीका में खेले गए पहले टेस्ट मैच में मिली करारी हार के बाद कैप्टन कोहली ने कई खुलासे किए हैं। विराट ने कहा कि उन्होंने केएल राहुल की जगह शिखर धवन को इसलिए खिलाया था, क्योंकि शिखर एक बाएं हाथ के बल्लेबाज है। जैसा की आपको पता है, कि टीम में अगर बाएं हाथ का बल्लेबाज हो तो, वह टीम के लिए कितने काम आ सकता है विराट ने एक कारण बताते हुए कहा कि टीम में अगर बाएं हाथ के बल्लेबाज होते है, तो वह टीम के फायदेमंद होता है। साउथ अफ्रीका के पास भी दो बाएं हाथ के बल्लेबाज है दाएं औऱ बांए हाथ दोनों बल्लेबाजो की अलग-अलग क्वालिटी होती है जो शॉट बांए हाथ का बल्लेबाज खेल सकता है, दाएं हाथ का बल्लेबाज उतने अच्छे से नही खेल सकता। इसलिए उन्होंने शिखर धवन को पहले टेस्ट में मौका दिया था।

 


 यही नहीं, विराट ने रहाणे की जगह रोहित शर्मा को खिलाने की बात पर भी सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने रोहित को इस मैच में सिर्फ एक मौका दिया था कि वे अपने प्रर्दशन से साबित कर सके कि वह टीम के लिए अपनी उपयोगिता दर्ज करा सकें। क्योंकि पिछले कुछ समय से रोहित शर्मा काफी अच्छा प्रर्दशन कर रहे हैं। इसी प्रर्दशन को देखते हुए उन्हें टीम में रखा गया था। बता दें, कि भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच चल रही टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में भारत को 72 रनों से हार का सामना करना पड़ा था।   

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: