शनिवार, 16 दिसम्बर 2017 | 06:31 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
विजय दिवस के मौके पर शहीदों को दी श्रद्धांजली।           अध्यक्ष बनते ही बीजेपी पार्टी पर तगड़े तंज: राहुल गांधी           राहुल गांधी बने कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष।          कोयला घोटाले में मधु कोड़ा को 3 साल की सजा, 25 लाख का जुर्माना           तीन तलाक दिया तो 3 साल की सजा होगी ।          केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ट्रिपल तलाक बिल को दी मंजूरी          राहुल गांधी की ताजपोशी 16 दिसंबर को होगी।          कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष बनने जा रहे है राहुल गांधी          हिमाचल प्रदेश व गुजरात विधानसभा चुनावों के फैसले 18 दिसंबर को होंगे जारी।          राज्यसभा में विपक्षी दलों का हंगामा।          लोकसभा 18 दिसंबर तक के लिए स्थगित ।          18 दिसंबर को होगा फैसला: भाजपा या कांग्रेस         
होम | उत्तराखंड | भूकंप का उत्तराखंड में केन्द्र बना रुद्रप्रयाग

भूकंप का उत्तराखंड में केन्द्र बना रुद्रप्रयाग


प्रकृति में आपदाओं की श्रेणी में भूकंप, चक्रवात, ज्वालामुखी कही पर भी अपना प्रभाव दिखा सकते है। वही दूसरी बीती रात को  देश की राजधानी दिल्ली के साथ-साथ हरियाणा और उत्तराखंड की धरती पर तीव्र भूकंप झटके देखने को मिले। जानकारी के मुताबिक राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार बीती रात को 8.49 मिनट पर रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5.5 मापी गई। इसका केंद्र अतिसंवेदनशील रुद्रप्रयाग जिले के अगस्त्यमुनि ब्लाक के तोलियों गांव में था। भूकंप के तेज झटकों से राज्यभर में शहर से लेकर गांवों तक लोग घरों से बाहर निकल आए। हर ओर अफरा-तफरी की स्थिति बन गई।  प्रशासनिक अधिकारियों के अनुसार देर रात तक किसी तरह के नुकसान की सूचना नहीं थी। शासन स्तर पर सभी जिलाधिकारियों को अलर्ट रहने को कहा गया है। उधर, सर्वाधिक संवेदनशील केदारपुरी में भी भूकंप के झटकों से वहां रह रहे चार सौ से अधिक लोग रातभर दहशत में रहे। वीरवार से चमोली जिले के गैरसैंण में विधानसभा के शीत सत्र के लिए वहां मौजूद मंत्री, विधायक और अधिकारी भी भूकंप के झटकों के बाद कमरों से बाहर निकल आए। जानकारी के मुताबिक रुदप्रयाग, चमोली, उत्तरकाशी, टिहरी व पौड़ी के साथ-साथ उधर, कुमाऊं में भी पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, बागेश्वर, चंपावत, नैनीताल व ऊधमसिंहनगर जिलों में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए।

गढ़वाल और कुमाऊं क्षेत्र में बीती रात आठ बजकर 50 मिनट और इसके कुछ क्षण बाद भूकंप के लगातार दो झटके महसूस किए गए। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक के अनुसार भूकंप का केंद्र रुद्रप्रयाग जिले के अगस्त्यमुनि ब्लाक स्थित तोलियों गांव के पास कार्तिक स्वामी मंदिर के पीछे की पहाड़ी पर 30 किमी की गहराई में था।

बताया कि फिलहाल किसी भी जिले में भूकंप से किसी प्रकार के नुकसान की सूचना नहीं है। भूकंप के लिहाज से राज्य के अति संवेदनशील श्रेणी वाले जनपदों में सभी जिलाधिकारियों को अलर्ट पर रखा गया है। राज्य मौसम केंद्र के अनुसार भूकंप देशांतर पर 30.4 नॉर्थ और 79.1 ईस्ट में दर्ज हुआ है। भूकंप के 5.5 तीव्रता के पहले झटके के कुछ क्षण बाद 4.2 तीव्रता का दूसरा झटका महसूस किया गया। पर्वतीय जिलों के दूरस्थ इलाकों में कई घरों में दरारें उभरने की सूचना मिल रही हैं। हालांकि आधिकारिक तौर पर कोई भी इसकी पुष्टि नहीं कर रहा है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: