शनिवार, 20 अक्टूबर 2018 | 01:34 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | देश | राहुल में बीजेपी को दिखा वो बादशाह

राहुल में बीजेपी को दिखा वो बादशाह


कर्नाटक चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आते जा रहे हं..वैसे-वैसे कार्नाटक में राजनीति का  कुछ अलग ही रंग देखने को मिलाने रहा है  कार्नाटक में  ऐसा ही अजीब रंग  राजनिता का देखने को मिला  कर्नाटक की राजनीति में टीपू सुल्तान के बाद  अब मुगल शासक और स्वतंत्रता सेनानी बहादुर शाह जफर ने एंट्री ली है. बीजेपी ने राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए उन्हें कांग्रेस का बहादुर शाह जफर बता दिया है यही नहीं बीजेपी ने राहुल गांधी पर हमले के साथ कर्नाटक चुनाव नतीजों की भी घोषणा भी कर दी है  इसे कसाथ ही बीजेपी ने कांगरिसे पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा है कि कारन्टाक चुनाव कांगिरेस और कांग्रेस के आख्री शआसक राहुल गाँधी का पटनके पतन का कारण बनेगा  बीजेपा ने कांगिरसे ने राहुल गाधी पर बड़ा हमाल बोलते हुए कहा है कि 'राहुल गांधी के साथ कांग्रेस पार्टी भी डूब जाएगी. मुगल वंश की तरह, हमेशा के लिए .लेकिन  बीजेपी से एक गलती हो गई और वो एक गलती कर बैठी  कि बीजेपी ने राहुल गांधी को भले ही बहादुर शाह जफर बताकर मुगल वंश और कांग्रेस को एक तराजू में रख दिया है. लेकिन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साल 2017 में म्यांमार दौरे के समय अंतिम मुगल शासक की मजार पर जाकर फूल-माला अर्पित कर चुके हैं  और सिर झुका चुके हैं इतना ही नहीं  उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक भी म्यांमार की बहादुर शाह जफर की दरगाह पर फूल चढ़ाकर उन्हें अपनी और देश की ओर से श्रद्धांजलि अर्पित कर चुके हैं.  अंग्रेजी हुकूमत ने दिल्ली के आखिरी बादशाह बहादुर शाह जफर को देश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में सैनिकों का नेतृत्व करने के कारण मुल्क बदर कर रंगून की जेल में कैद कर दिया था. रंगून जेल में ही 7 नवंबर, 1862 को जफर का निधन हो गया था अब बीजेपी ने राहुल गाँधी को बादशाह बहादुर शाह जफर बता कर अपने लिये ही मुसीबत खड़ी कर ली है

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: