बुधवार, 24 जनवरी 2018 | 03:32 IST
शांति की शुरूआत मुस्कराहट के साथ होती है
होम | दुनिया | पाक और श्रीलंका में 681 भारतीय मछुआरे फसे, 1160 नौकाओं पर कब्जा

पाक और श्रीलंका में 681 भारतीय मछुआरे फसे, 1160 नौकाओं पर कब्जा


समुद्र में मछली पकड़ने के काम से मछुआरे पानी में देश की सीमा पार कर जाते है लेकिन दूसरे देश में फस जाने के बाद देश लौटना बड़ा मुश्किल होता है। ऐसा भारतीय मछुआरों के साथ हो रहा है।

जानकारी के मुताबिक, सरकार ने बताया कि करीब 537 भारतीय मछुआरे पाकिस्तान की हिरासत में हैं और श्रीलंका की हिरासत में रह रहे भारतीय मछुआरों की संख्या 144 है।

साथ ही विदेश राज्य मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वी के सिंह ने  राज्यसभा को यह जानकारी दी। उन्होंने यह भी बताया कि भारतीय मछुआरों की करीब 1000 नौकाएं पाकिस्तान और 160 नौकाएं श्रीलंका के कब्जे में हैं।

उन्होंने बताया कि भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय संबंधों में गतिरोध भारतीय मछुआरों की रिहाई और उनकी वापसी में एक बड़ी बाधा है। बहरहाल, द्विपक्षीय वार्ता तंत्र न होने के बावजूद दोनों पक्षों ने 2017 में कई मछुआरों को छोड़ा है।

उन्होंने बताया ‘हमने 345 भारतीय मछुआरों को सफलतापूर्वक रिहा कराया जिनमें पिछले छह माह में रिहा हुए 245 भारतीय मछुआरे शामिल हैं।’ सिंह ने बताया कि साल 2017 में श्रीलंका की हिरासत से सतत राजनयिक प्रयासों के चलते 347 मछुआरों को रिहा कराया जा चुका है।

साथ ही विदेश राज्य मंत्री ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि नवंबर 2016 में भारत और श्रीलंका के विदेश मंत्रियों और मात्स्यिकी मंत्रियों की नई दिल्ली में मुलाकात के दौरान मछुआरों के मुद्दे के हल के लिए एक द्विपक्षीय संयुक्त कार्य दल (जेडब्ल्यूजी) तंत्र की स्थापना की गई थी। इस बात पर भी सहमति बनी थी कि इसकी प्रगति की समीक्षा के लिए दोनों देशों के मत्स्यिकी मंत्री प्रत्येक छह माह में बैठक करेंगे। साथ ही उन्होंने बताया कि अब तक जेडब्ल्यूजी की बैठकों के तीन दौर हो चुके हैं।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: