शनिवार, 16 दिसम्बर 2017 | 12:45 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
अध्यक्ष बनते ही बीजेपी पार्टी पर तगड़े तंज: राहुल गांधी           राहुल गांधी बने कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष।          कोयला घोटाले में मधु कोड़ा को 3 साल की सजा, 25 लाख का जुर्माना           तीन तलाक दिया तो 3 साल की सजा होगी ।          केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ट्रिपल तलाक बिल को दी मंजूरी          राहुल गांधी की ताजपोशी 16 दिसंबर को होगी।          कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष बनने जा रहे है राहुल गांधी          हिमाचल प्रदेश व गुजरात विधानसभा चुनावों के फैसले 18 दिसंबर को होंगे जारी।          राज्यसभा में विपक्षी दलों का हंगामा।          लोकसभा 18 दिसंबर तक के लिए स्थगित ।          18 दिसंबर को होगा फैसला: भाजपा या कांग्रेस         
होम | देश | रिमांड के आखिरी दिन विपासना के गले लगकर फूट-फूट कर रोई हनीप्रीत

रिमांड के आखिरी दिन विपासना के गले लगकर फूट-फूट कर रोई हनीप्रीत


हनीप्रीत के लिये आज का दिन बेहद खास है क्योकि उनके रिमांड का दिन खत्म हो चुका है। आज उसे पंचकूला हाईकोर्ट में पेश किया जायेगा। हनी के साथ ही डेरा सच्चा सोदा की चेयरपर्सन विपासना की मौजूदगी में उससे पूछताछ की जायेगी। लेकिन इन सबके बीच हनी ने जैसे ही विपासना को देखा वो वैसे ही बुरी तरह से उसके गले लग गई और फूट-फूट कर रोने लगी।

 

 

 

आपको बता दें कि 3 अक्टूबर को हनीप्रीत और सुखदीप की गिरफ्तारी के बाद विपासना के साथ ये पहली मुलाकात है। आज हनीप्रीत की रिमांड भी खत्म हो रही है और उसे पंचकूला कोर्ट में पेश किया जाएगा। इस मामले में पुलिस के अगले कदम पर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं। कोर्ट में रिमांड बढ़ाने के लिए पुलिस की तरफ से क्या नए साक्ष्य और तर्क दिए जाएंगे यह अहम है।

 

 

इस लिहाज से हनीप्रीत और विपासना से आमने-सामने पूछताछ को पुलिस का रिमांड खत्म होने से पहले आखिरी दांव माना जा रहा है। साथ ही पुलिस को इस पूछताछ के दौरान अहम जानकारी मिलने की उम्मीद भी है। पंचकूला पुलिस ने डेरा सच्चा सौदा सिरसा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के काफिले में 25 अगस्त को पंचकूला पहुंचीं गाड़ियों की जांच के लिए 27 सितंबर को विपासना को पुलिस जांच में शामिल होने के लिए नोटिस दिया था लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया था।

 

 

 

विपासना सिरसा डेरा से तब जुड़ी, जब वह कक्षा 6 की छात्रा थी। इसके बाद उसने डेरा परिसर में संचालित शैक्षिक संस्थानों से ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन पूरा किया। हनीप्रीत की तरह ही वह भी डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की विश्वासपात्र करीबियों में से थी। जिसके कारण उसे डेरे की कमान सौप दी गई। इससे पहले विपसान ये खुलासा कर चुकी हैं कि उसने हनीप्रीत को भगाने में मदद की थी। उसने अपना जुर्म कबूलते हुए पुलिस को बताया था कि हनीप्रीत के लिए उसने एक एसयूवी कार का इंतजाम कराया था।

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: