बृहस्पतिवार, 23 नवंबर 2017 | 10:42 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
होम | धर्म-अध्यात्म | 24 फरवरी को मनाएं महाशिवरात्रि का पर्व ज्योतिषाचार्यों की माने तो

24 फरवरी को मनाएं महाशिवरात्रि का पर्व ज्योतिषाचार्यों की माने तो


शिवरात्रि को लेकर लोगो में असमंजस है कि किस दिन महाशिवरात्रि पर्व मनाएं। ज्योतिषाचार्यों की माने तो 24 फरवरी को यह पर्व मनाना श्रेष्ठ है। क्योंकि यह पर्व अर्धरात्रि व्यापिनी होता है। हालांकि, अगले दिन भी पूजन आदि कर सकते हैं।

दरअसल, 24 फरवरी को रात साढ़े नौ बजे से चतुर्दशी तिथि शुरू होगी, जो अगले 25 की रात सवा नौ बजे तक रहेगी। ज्योतिषाचार्य आचार्य सुशांत राज के मुताबिक महाशिवरात्रि का व्रत निशिथ काल में किया जाता है। यह काल 24 फरवरी को रात 12.10 से 1.03 बजे तक रहेगा।

आचार्य संतोष खंडूड़ी का कहना है कि 25 फरवरी को अर्धरात्रि से पहले ही चतुर्दशी खत्म हो जाएगी। जबकि महाशिवरात्रि अर्धरात्रि व्यापिनी होती है।

पंडित सुभाष जोशी का कहना है कि भ्रम होने की कोई बात नहीं है। 24 फरवरी को ही महाशिवरात्रि है। क्योंकि यह पर्व अर्धरात्रि को ही होता है। वहीं, श्री टपकेश्वर महादेव समेत शहर के तमाम शिवालयों में भी इसी दिन महाशिवरात्रि पर्व मनाया जा रहा है। इसके लिए तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। कई मंदिरों में दोनों दिन भगवान शिव की विशेष पूजा-अर्चना होगी। 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: