शनिवार, 16 दिसम्बर 2017 | 06:21 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
विजय दिवस के मौके पर शहीदों को दी श्रद्धांजली।           अध्यक्ष बनते ही बीजेपी पार्टी पर तगड़े तंज: राहुल गांधी           राहुल गांधी बने कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष।          कोयला घोटाले में मधु कोड़ा को 3 साल की सजा, 25 लाख का जुर्माना           तीन तलाक दिया तो 3 साल की सजा होगी ।          केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ट्रिपल तलाक बिल को दी मंजूरी          राहुल गांधी की ताजपोशी 16 दिसंबर को होगी।          कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष बनने जा रहे है राहुल गांधी          हिमाचल प्रदेश व गुजरात विधानसभा चुनावों के फैसले 18 दिसंबर को होंगे जारी।          राज्यसभा में विपक्षी दलों का हंगामा।          लोकसभा 18 दिसंबर तक के लिए स्थगित ।          18 दिसंबर को होगा फैसला: भाजपा या कांग्रेस         
होम | देश | लकी सीट के चक्कर में बुरे फंसे ‘रुपाणी’

लकी सीट के चक्कर में बुरे फंसे ‘रुपाणी’


गुजरात चुनाव से पहले सियासत गरमाती जा रही है। जिस देखकर पता लगाना बेदह मुस्कील है कि गुजरात जीत का ताज किसके सिर पर सजेगा। ऐसे में एक खबर ऐसी आ गई है। जिसने सबको चौंका कर रख दिया है। आपको बता दें गुजरात विधानसभा चुनाव में इस बार मुख्यमंत्री विजय रुपाणी की कड़ी सियासी अग्निपरीक्षा है। खासकर रुपाणी को उनके ही विधानसभा क्षेत्र राजकोट में कांग्रेसी उम्मीदवार इंद्रनील राजगुरु से कड़ी चुनौती मिल रही है। इस कड़ी चुनौती के बीच सबसे दिलचस्प ये बात है कि विजयी रूपानी ने इस सीट को लकी माना है।

पिछले विधानसभा चुनाव में विजय रुपाणी इस सीट से विजयी हुए और बाद में गुजरात के मुख्यमंत्री बने। नरेंद्र मोदी भी इस सीट से चुनाव लड़ने के बाद देश के प्रधानमंत्री बने। वजूभाई वाला यहां से कई बार चुनाव लड़े और बाद में कर्नाटक के राज्यपाल बने। गुजरात की राजनीति में यह सीट बेहद भाग्यशाली मानी जाती है। यह बीजेपी की परंपरागत सीट रही है। ऐसे में बीजेपी के लिए इस सीट को बचाना बड़ी चुनौती है।

अब ये देखना काफी दिलचस्प होगा। गुजरात की जीत का ताज किसके सिर पर सेजगा।  



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: