शनिवार, 16 दिसम्बर 2017 | 12:47 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
अध्यक्ष बनते ही बीजेपी पार्टी पर तगड़े तंज: राहुल गांधी           राहुल गांधी बने कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष।          कोयला घोटाले में मधु कोड़ा को 3 साल की सजा, 25 लाख का जुर्माना           तीन तलाक दिया तो 3 साल की सजा होगी ।          केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ट्रिपल तलाक बिल को दी मंजूरी          राहुल गांधी की ताजपोशी 16 दिसंबर को होगी।          कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष बनने जा रहे है राहुल गांधी          हिमाचल प्रदेश व गुजरात विधानसभा चुनावों के फैसले 18 दिसंबर को होंगे जारी।          राज्यसभा में विपक्षी दलों का हंगामा।          लोकसभा 18 दिसंबर तक के लिए स्थगित ।          18 दिसंबर को होगा फैसला: भाजपा या कांग्रेस         
होम | सेहत | जानिए हल्दी के गुणकारी फायदे

जानिए हल्दी के गुणकारी फायदे


हल्दी का दूध सेहत के लिये काफी फायदेमंद होता है क्योंकि आयुर्वेद में हल्दी को सबसे बेहतरीन नेचुरल एंटीबायोटिक माना गया है। यह त्वचा, पेट और शरीर के कई रोगों में उपयोगी होता है। अगर आपके शरीर में किसी भी प्रकार का दर्द है तो भी आप हल्दी वाले दूध का उपयोग कर सकते है। हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल करने से आपको सर्दी से भी राहत मिलेगी।
हल्दी के दूध का इस्तेमाल घरेलू इलाज के तौर पर अवश्य ही किया जाता है। इसके अलावा भी हल्दी वाले दूध के कई सारे फायदे होते हैं। जो शायद आप नहीं जानते होगें। तो जानिए हल्दी वाले दूध के बारे में-  
अगर आपको किसी भी प्रकार की चोट या फिर मोच आ जाए तो उस जख्म को भरने के लिये हल्दी का दूध बहुत फायदेमंद होता है। यह जख्म को बहुत जल्द ठीक कर देता है।
अगर आपको सर्दी है तो आप हल्दी के दूध का सेवन कर सकते है जिसे पीने से आराम आता है। 
अगर हल्दी वाला दूध रात में पीकर सोते है तो आपके शरीर के किसी भी अंग में दर्द नहीं होगा और हल्दी वाला दूध पीने से आपकी त्वचा चमकदार और स्वस्थ्य दिखाई देगी।
अगर आपको किसी भी कारण से नींद नहीं आ रही है, तो रात को भोजन के बाद सोने से आधे घंटे पहले हल्दी वाले दूध का सेवन करने से जल्द ही नींद आ जाएगी। 
अगर आपको सारे दिन काम करने से थकान महसूस होती है तो आप हल्दी वाले दूध का सेवन कर सकते है। 
दूध में कैल्शिेयम होने के कारण यह हड्डियों को बहुत मजबूत बनाता है और हल्दी के गुणों के कारण रोगप्रतिरोधक क्षमता में भी बहुत वृद्धि होती है।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: