मंगलवार, 24 अप्रैल 2018 | 02:18 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | उत्तराखंड | काग्रेंस की उम्मींद पर खरा नहीं उतर पाए किशोर उपाध्याय

काग्रेंस की उम्मींद पर खरा नहीं उतर पाए किशोर उपाध्याय


2017 के हुए विधान सभा चुनावों में मिली करारी हार के बाद काग्रेंस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय की अब पार्टी में निंदा शुरू हो गयी है। आपको बता दें विधानसभा चुनाव में हुई हार से काग्रेंस पार्टी ने हार का सारा ठीकरा किशोर के सर पर फोड़ा था। और हालात आज ऐसे बन गये है काग्रेंस पार्टी से किशोर का नाम गायब होता दिख रहा है। जी हां ये बात खुद किशोर उपाध्याय ने ने मीडिया के सामने रखी है। हालांकि, उन्होंने साफ किया कि वह सोनिया-राहुल व कांग्रेस के सिपाही हैं और आलाकमान के निर्देशों का पालन करेंगे। अन्यथा अपने ऊपर हो रहे अपमान को सहन नहीं करेंगे।

आपको बता दें कि प्रदेश अध्यक्ष के रूप में प्रीतम सिंह की ताजपोशी होने के बाद पार्टी में अपनी जगह बनाने के लिए कई गुट सिर उठाए रहे है। दरअसल अब निकाय चुनावों को नजदीक देख कांग्रेस में इन दिनों कई सम्मेलन हो रहे हैं और सभी वरिष्ठ नेता इसमें शिरकत कर रहे हैं। इसी के साथ हाल ही में हल्द्वानी में पार्टी की बैठक हुई। जिसमें जाने माने पार्टी नेताओं के पोस्टर बैनरों की भरमार थी, लेकिन इसमें एक चेहरा जो गायब था वह पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय का था।

जी हां इसी बात ने अब किशोर की रातों की नीदें उड़ा दी है अब देखना काफी दिसचस्प होगा काग्रेंस सरकार के इस व्यवहार पर किशोर की क्या प्रतिक्रिया होती है। 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: