शुक्रवार, 21 सितंबर 2018 | 03:55 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | दुनिया | ISI ने कराया था कुलभूषण जाधव का किडनैप, हुआ खुलासा

ISI ने कराया था कुलभूषण जाधव का किडनैप, हुआ खुलासा


पाकिस्तान जेल में बंद कूलभूषण जाधव मामले में एक नया खुलासा हुआ है। बता दें, कि एक बलोच नेता ने दावा किया है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर ईरान के चाबहार से कुलभूषण जाधव का अपहरण किया गया। इस बात का खुलासा बलोच ऐक्टिविस्ट मामा कदीर ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में किया है। कदीर के मुताबिक बलूचिस्तान में आईएसआई के लिए काम करने वाले मुल्ला उमर बलूच इरानी ने चाबहार से कुलभूषण जाधव का अपहरण किया था। जिसके लिए आईएसआई न मुलला उमर को करोड़ो रूपये का भुगतान किया था। कदीर ने यह दावा वॉइस ऑफ मिसिंग बलोच्स संगठन के एक ऐक्टिविस्ट के हवाले से किया है। कदीर इस संगठन के उपाध्यक्ष है। कदीर ने कहा का संगठन का ऐक्टिविस्ट कुलभूषण के अपहरण का चश्मदीद है। 

 


आपको बता दें, कि बलोच नेता ने ऐक्टिविस्ट के हवाले से कुलभूषण के अपहरण की पूरी कहानी बताते हुए कहा कि कुलभूषण जाधव के हाथ बंधे हुए थे और आंखों पर पट्टी थी। धक्का देकर कुलभूषण को एक गाड़ी में बिठाया गया। उसके बाद कुलभूषण को चाबहार से ईरान-बलूचिस्तान की सीमा पर स्थित शहर मशकील लाया गया। फिर उन्हें यहां बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा लाया गया फिर इस्लामाबाद पहुंचा दिया गया। जिसके बाद आईएसआई ने दावा किया था कि उन्हें बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया, लेकिन हकीकत यह थी की कुलभूषण का अपहरण कर लाया गया था। 

 


बता दें, कदीर ने यह भी कहा कि बलूचिस्तान में हर आने-जाने वाले की आईएसआई जानकारी रखता है। इसके बाद यह संभव ही नहीं है कि कोई व्यक्ति बिना जानकारी के बलूचिस्तान में घुस जाए। अब ऐसे में पाकिस्तान का दावा पूरा झूठा साबित हो गया है जिसमें वह कहता रहा है कि उसनें जाधव को बलूचिस्तान में पाकिस्तान की जासूसी करते हुए गिरफ्तार किया था। जिसे भारत शूरू से ही झूठा बताता रहा है क्योंकि भारत का कहना है कि जाधव को ईरान से पकड़ा गया है जहां वे अपना कारोबार करने गए थे।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: