शनिवार, 16 दिसम्बर 2017 | 06:24 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
विजय दिवस के मौके पर शहीदों को दी श्रद्धांजली।           अध्यक्ष बनते ही बीजेपी पार्टी पर तगड़े तंज: राहुल गांधी           राहुल गांधी बने कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष।          कोयला घोटाले में मधु कोड़ा को 3 साल की सजा, 25 लाख का जुर्माना           तीन तलाक दिया तो 3 साल की सजा होगी ।          केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ट्रिपल तलाक बिल को दी मंजूरी          राहुल गांधी की ताजपोशी 16 दिसंबर को होगी।          कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष बनने जा रहे है राहुल गांधी          हिमाचल प्रदेश व गुजरात विधानसभा चुनावों के फैसले 18 दिसंबर को होंगे जारी।          राज्यसभा में विपक्षी दलों का हंगामा।          लोकसभा 18 दिसंबर तक के लिए स्थगित ।          18 दिसंबर को होगा फैसला: भाजपा या कांग्रेस         
होम | मनोरंजन | इस तरह बंगाल में पद्मावती को लाएंगी CM ममता?

इस तरह बंगाल में पद्मावती को लाएंगी CM ममता?


संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती पर उपजे विवाद में अब पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी कुद गई है। वहीं, उनके एक बयान के बाद अब बीजेपी और उनमें जमकर हमले हो रहे हैं। बीजेपी नेता ने ममता बनर्जी के बयान पर पलटवार करते हुए विवादित बयान दे दिया है, जिसके बाद इसपर जमकर राजनीति हो रही है। दरअसल, हरियाणा बीजेपी के नेता सूरज पाल अम्मू ने ममता बनर्जी को चेतावनी देते हुए उन्हें शूर्पनखा की याद दिलाई और कहा कि, “राक्षसी प्रवृति की जो महिलाएं होती है, जैसे शुर्पनखा थी, जिसाक इलाज लक्ष्मण ने नाक काट कर किया था, ममता इस बात को ना भूलें”। 

 

 

बता दें, कि ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहा था कि वो बंगाल में पद्मावति को रिलीज करेंगी और ऐसा करने से उन्हें कोई नहीं रोक सकता है, जिसके बाद ये विवाद हुआ। सूरज पाल अम्मू पहले भी फिल्म को लेकर विवादित बयान दे चुके हैं। उन्होंने हाल ही में संजय लीला भंसाली और दीपिका पदुकोण का सिर कलम करने वाले को दस करोड़ के इनाम का ऐलान किया था. जिसके बाद पार्टी ने उन्हें नोटिस भी जारी किया था। हालांकि, वो लगातार अपने रुख पर अड़े हैं और जेल जाने के लिए तैयार होने की बात भी करते रहे हैं, लेकिन पद्मावति विवाद जिस तरह से पूरे देश में फैलता जा रहा है और उनका राजनीतिकरण भी होता जा रहा है, उससे एक बात तो साफ है कि नेता अब पद्मावति के बहाने अपनी राजनीतिक रोटी सेक रहे हैं। खैर देखना होगा कि पद्मावति पर जारी से संग्राम कब रुकता है।  



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: