बुधवार, 24 जनवरी 2018 | 03:26 IST
शांति की शुरूआत मुस्कराहट के साथ होती है
होम | देश | जजों के मामले में कांग्रेस ने BJP को क्यों घेरा ?

जजों के मामले में कांग्रेस ने BJP को क्यों घेरा ?


देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब दूसरों को न्याय देने वाले जज खुद के लिये न्याय की गुहार लगा रहे हैं और कह रहे है कि सुप्रीम कोर्ट में कुछ तो गलत हो रहा है। साथ ही चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा पर भी लापरवाही के गंभीर आरोप लगा रहे हैं। लेकिन इस गंभीर मुद्दे में भी राजनीति बीच में आ गई है, जिसके कारण कांग्रेस और बीजेपी आमने-सामने आ गई हैं, जिसके कारण ये मुद्दा और भी ज्यादा तूल पकड़ रहा है।


 
आपको बता दें, विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट के कामकाज को लेकर उसके चार न्यायधीशों द्वारा उठाए गए मुद्दों की गहन जांच की मांग की, जिसे लेकर भाजपा ने उन पर न्यायपालिका के आंतरिक मामलों का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने न्यायाधीशों की ओर से जतायी गयी चिंता को बेहद महत्वपूर्ण बताते हुए, न्यायमूर्ति बी एच लोया की रहस्यमय मौत की जांच की भी मांग की। लोया की मौत 2014 में तब हुई थी जब वह सोहराबुद्दीन शेख मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रहे थे, जिसमें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आरोपी थे, लेकिन बाद में उन्हें बरी कर दिया गया। राहुल ने कहा, मुझे लगता है कि चारों न्यायाधीशों ने बेहद महत्वपूर्ण मुद्दे उठाए हैं। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र खतरे में है। इन पर गहराई से ध्यान देने की जरूरत है।

 

तो वहीं, BJP ने पलटवार करते हुए कांग्रेस पर न्यायपालिका के आंतरिक मामलों का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया है। पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, कि देश के राजनीतिक दल न्यायिक कार्यक्षेत्र के बाहर राजनीति कर रहे हैं, वे न्यायपालिका के आंतरिक मामलों को घसीटने की कोशिश कर रहे हैं और उसका राजनीतिकरण कर रहे हैं। जोकि नहीं होना चाहिए, जिस तरह से इस गंभीर मामले में राजनीतिक पार्टियां कूद रही है, ये बेदह शर्मनाक बात है, क्योंकि ऐसा करके वे लोकतंत्र को मुस्किल में डाल रहे हैं।  

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: