सोमवार, 10 दिसम्बर 2018 | 05:29 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | उत्तराखंड | बसों का किराया बढ़ने से मंहगी हुई चार धाम यात्रा

बसों का किराया बढ़ने से मंहगी हुई चार धाम यात्रा


वाहनों के कलपुर्जों और टैक्स में बढ़ोत्तरी का असर अब चारधाम यात्रा पर भी दिखने लगा है। पिछले चार दशक से चारधाम यात्रा का संचालन करने वाली संयुक्त रोटेशन यात्रा व्यवस्था समिति ने इस वर्ष विभिन्न धामों के किराए में लगभग 18 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी कर दी है, लेकिन राज्य सड़क प्राधिकरण की ओर से इस तरह की कोई किराया वृद्धि नहीं की गई है। उत्तराखंड की नौ प्रमुख परिवहन कंपनियों की साझा संस्था संयुक्त रोटेशन यात्रा व्यवस्था समिति पिछले 40 वर्षों से चारधाम यात्रा का संचालन कर रही है। वर्ष 2013 की आपदा में परिवहन व्यवसायियों को भारी नुकसान हुआ और यात्रा भी ठप रही।

 


आपको बता दें, इसके बावजूद संयुक्त रोटेशन ने नुकसान सहते हुए भी तीन वर्षों तक किराये में कोई वृद्धि नहीं की, लेकिन बीते वर्ष रोटेशन ने किराया बढ़ाया था और इस वर्ष भी किराए में 18 प्रतिशत की वृद्धि कर दी है। रोटेशन कार्यालय में आयोजित संचालकों की बैठक में अध्यक्ष सुधीर राय ने कहा कि परिवहन व्यवसाय से जुड़ी हर सेवा की कीमतें बढ़ी हैं। इससे परिवहन व्यवसायियों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। उन्होंने बैठक में वर्ष 2017 की तुलना में इस वर्ष किराये में 18 प्रतिशत वृद्धि का प्रस्ताव रखा। जिसे सर्वसम्मति से मंजूर कर लिया गया। पंद्रह मार्च के बाद यात्रा में जाने वाली बसों में लॉटरी प्रक्रिया अपनाई जाएगी। 


इस वर्ष सभी धामों की यात्रा के लिए प्रति यात्री 200 से 300 रुपये तक अतिरिक्त भुगतान करेगा। रोटेशन ने सेम मुखेम के लिए 12000 रुपये, औली के लिए 3000 रुपये, त्रियुगीनारायण के लिए 3000 रुपये और वाया सहस्रधारा 2000 रुपये प्रति यात्री किराया निर्धारित किया है। वहीं चार धामों के लिए यात्री किराया इस प्रकार है......


धाम  (सामान्य 41 सीट)   (सामान्य 20 सीट)   (पुशबैक 18 सीट)
एक धाम      1330               1600                  2220
दो धाम       1810               2170                  3030
तीन धाम     2560               3070                   4280
चार धाम     3170               3800                   5300
गंगोत्री-बदरी   2360               2830                   3950

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: