शनिवार, 16 दिसम्बर 2017 | 06:07 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
विजय दिवस के मौके पर शहीदों को दी श्रद्धांजली।           अध्यक्ष बनते ही बीजेपी पार्टी पर तगड़े तंज: राहुल गांधी           राहुल गांधी बने कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष।          कोयला घोटाले में मधु कोड़ा को 3 साल की सजा, 25 लाख का जुर्माना           तीन तलाक दिया तो 3 साल की सजा होगी ।          केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ट्रिपल तलाक बिल को दी मंजूरी          राहुल गांधी की ताजपोशी 16 दिसंबर को होगी।          कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष बनने जा रहे है राहुल गांधी          हिमाचल प्रदेश व गुजरात विधानसभा चुनावों के फैसले 18 दिसंबर को होंगे जारी।          राज्यसभा में विपक्षी दलों का हंगामा।          लोकसभा 18 दिसंबर तक के लिए स्थगित ।          18 दिसंबर को होगा फैसला: भाजपा या कांग्रेस         
होम | दुनिया | CPEC रोड परियोजनाओं की फंडिंग में आखिरकार पाक को चीन ने क्यों दिया झटका ?

CPEC रोड परियोजनाओं की फंडिंग में आखिरकार पाक को चीन ने क्यों दिया झटका ?


पाकिस्तान की दोस्ती को दरकिनार करते हुए चीन ने अब अपना रवया बदलने में देर नहीं लगाई। वही दूसरी ओर पाकिस्तान चीन से खफा होता नजर आ रहा है। जानकारी के मुताबिक आतंकवाद के पनाहगाह पाकिस्तान को उसके हमसफर दोस्त चीन ने तगड़ा झटका दिया है। चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (CPEC) के तहत बन रहे तीन बड़े सड़क प्रोजेक्ट के लिए मिलने वाले फंड को रोक दिया है।

जानकारी के मुताबिक CPEC के तहत बनने वाले इन प्रोजेक्ट में भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद चीन ने यह कदम उठाया है।. पाकिस्तानी अखबार डॉन ने एक अधिकारी के हवाले से बताया कि फिलहाल चीन सरकार ने CPEC के तहत बनने वाले रोड नेटवर्क की तीन परियोजनाओं की फंडिंग को रोक दिया है।

चीन के इस फैसले से पाकिस्तान नेशनल हाइवे अथॉरिटी (NHA) के अरबों डॉलर की सड़क परियोजनाओं को करारा झटका लगेगा। वहीं, पाकिस्तान अपने दोस्त चीन से मिले इस झटके से हैरान है। अब चीन सरकार इस मामले में आगे फैसला लेगी और नई गाइडलाइंस जारी करेगी, जिसके बाद ही इन परियोजनाओं को फंडिंग जारी की जा सकेगी।

चीन इस मामले में भविष्य में क्या फैसला लेता है, इसका पता तो बाद में ही चलेगा, लेकिन इतना तो तय है कि फिलहाल पाकिस्तान की सड़क परियोजनाएं ठप हो जाएंगी। मालूम हो कि वन बेल्ट वन रोड परियोजना के तहत बनने वाला चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा PoK से गुजरता है। इस परियोजना के जरिए चीन का शिनजियांग इलाका पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत से जुड़ेगा।

इसका भारत लंबे समय से विरोध कर रहा है. भारत का कहना है कि PoK भारत का अभिन्न हिस्सा है, जिस पर पाकिस्तान ने अवैध कब्ज कर रखा है। भारत का कहना है कि चीन की ओर से PoK में CPEC का निर्माण करना उसकी संप्रभुता का उल्लंघन है। इसी के चलते भारत ने चीन में आयोजित OBOR समिट का भी बहिष्कार किया था।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: