बृहस्पतिवार, 23 नवंबर 2017 | 10:47 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
होम | क्राइम | प्रद्युम्न हत्याकांड में आये ट्विस्ट से सवालों के घेरे में CBI

प्रद्युम्न हत्याकांड में आये ट्विस्ट से सवालों के घेरे में CBI


सीबीआई ने जब से ये खुलासा किया है कि प्रद्युम्न की हत्या कंडक्टर अशोक नहीं, बल्कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ने वाले 11 वीं के छात्र ने की थी। तब से ये बात किसी के गले नहीं उतर रही, जिसके बाद से सीबीआई जांच पर लगातार सवाल उठने लगे हैं। साथ ही हरियाणा पुलिस भी इसके घेरे में आ गई है कि किसी गरबी को फंसाना कितना सही है। साथ ही एक सवाल और उठने लगा है कि अगर बस कंडक्टर अशोक कुमार ने प्रद्युमन को मारा ही नहीं, तो जुर्म क्यों कबूला। 

सीबीआई के मुताबिक, आरोपी छात्र ने अपने दोस्तों से कहा था कि वो लोग एग्जाम की चिंता न करें, क्योंकि वह टलने वाले हैं। भले ही जांच एजेंसी मामले के खुलासे का दावा कर रही है, लेकिन उसकी थ्योरी अभी किसी के गले नहीं उतर रही है, जिससे कई तरह के सवाल उठते दिख रहे हैं। सीबीआई की जांच में पर न केवल प्रद्युम्न के माता-पिता, बल्कि पूरा देश सवाल उठ रहा है, जैसे-
 

 

1. सीसीटीवी फुटेज में आरोपी छात्र के कंडक्टर अशोक और पांच लोग भी देखे गए थे, लेकिन अशोक वहां कैसे और क्यों पहुंचा था और इस पर सीबीआई ने कुछ नहीं कहा है। 
 


2. गुड़गांव पुलिस का कहना था कि मामले में गिरफ्तार किए गए बस कंडक्टर अशोक ने हत्या की बात स्वीकार की थी कि उसने बच्चे को यौन हमले का शिकार बनाने की कोशिश की थी और प्रद्युम्न के विरोध करने उसकी हत्या कर दी। इसके बाद सवाल उठता है कि जब कंडेक्टर ने उसे मारा ही नहीं, तो उसने जुल्म कबूला क्यों?
 


3.पोस्टमाटम रिपोर्ट के मुताबिक बच्चे के गले की एक नस काट दी गई, जिससे वह बोल या चीख नहीं पाया। बताया जा रहा है कि इसी नस की वजह से मनुष्य बोलते हैं। सवाल इस बात का है कि क्या 11वीं छात्र किसी पेशेवर अपराधी की तरह इस हत्याकांड को अंजाम दे सकता है? अगर स्कूल के छात्र ने ही प्रद्युम्न को मारा था, तो आरोपी छात्र के कपड़े क्यों गंदे नहीं हुए और कपड़ों पर खून के दाग क्यों नहीं लगे? 

 

4.अशोक ने हरियाणा पुलिस के सामने शुरू में क्यों जुर्म कबूला था, इस पर भी सीबीआई कुछ भी साफ तरीके से नहीं बता पाई है। 

 

5.सीसीटीवी फुटेज में बाकी लोग कौन थे, इसको लेकर भी कुछ नहीं बताया गया है। बस बिना सबूत के आधार पर अशोक को ही क्यों गिरफ्तार किया गया ? 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: