रविवार, 22 जुलाई 2018 | 12:19 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | देश | महाराष्ट्र की सत्ता में उफान, बीजेपी और शिवसेना ?

महाराष्ट्र की सत्ता में उफान, बीजेपी और शिवसेना ?


शिवसेना और बीजेपी के तल्ख होते रिश्ते के बीच अब शिवसेना नेता और उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने खुलकर गठबंधन तोड़ने का ऐलान कर दिया है। जिससे अब महाराष्ट्र सरकार की कुर्सी खतरे में पड़ती दिखाई दे रही है। जिससे महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़णवीस को अब अपनी कुर्सी जाने का डर सताने लगा है।

 

दरअसल अहमदनगर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए आदित्य ठाकरे ने कहा कि शिवसेना एक साल के अंदर बीजेपी से अलग हो जाएगी और महाराष्ट्र में अलग चुनाव लड़ेगी और अपने बूते पर सरकार बनाएगी। वहीं इस ऐलान के बाद बीजेपी के अंदर हड़कंप मच गया है। इस ऐलान के बाद अब बीजेपी के अंदर मंथन होना शुरु हो गया है कि आखिर अपनी सरकार को कैसे बचाया जाए।

 

क्योंकि महाराष्ट्र में 2019 में विधानसभा का चुनाव होना है। दरअसल शिवसेना फड़णवीस सरकार पर आरोप लगा रही है बीजेपी चुनाव में किए गए अपने वादों को पुरा करने में असफल रही है। चाहे वो किसानों का मुद्दा हो या फिर महंगाई का मुद्दा सारे मुद्दों पर बीजेपी फेल रही है। इसीलिए जनता में बीजेपी के प्रति गुस्सा है। लेकिन यहां सवाल उठता है कि 2014 में भी शिवसेना अलग होकर ही चुनाव लड़ी थी, लेकिन पूर्ण बहुमत नहीं मिलने के बाद बीजेपी को अपना समर्थन दे दिया था। तो क्या फिर से शिवसेना वही चाल रही है। दरअसल शिवसेना जिस तरह की रणनीति अपना रही है। उससे तो ऐसा लगता है कि वो चाहती है कि अलग होकर चुनाव लड़ लेते हैं। अगर पूर्ण बहुमत आई तो सही है, अगर नहीं आई तो बीजेपी को समर्थन देकर सत्ता का स्वाद तो वैसे भी चखने को मिल जाएगी।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: