मंगलवार, 24 अप्रैल 2018 | 02:19 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | देश | अखिलेश और राहुल के बीच दरार से बदल जाएगीं यूपी की राजनीति

अखिलेश और राहुल के बीच दरार से बदल जाएगीं यूपी की राजनीति


अखिलेश यादव ने जब से कांग्रेस से दूरी बनाई है तब से तरह-तरह की खबरें आ रही है की अखिलेश के अचानक हाथ छोड़ देने से राहुल को बड़ा झटका लगा है। साथ ये भी खबरें उठने लगी हैं कि अखिलेश ने यूपी चुनाव के महागठबंधन से काफी सीख ली है। और अब वो इसीलिये अकेले चलना चाहते क्योंकि उन्हें पता है कि काग्रेंस का साथ साईकिल को ब्रेक लगा रहा है।

 

लेकिन काग्रेंस की मानें तो अखिलेश के किनारा करने से कांगिरेस को कई फर्क नहीं  पड़ता क्योकि कांग्रेस एक नेशनल पार्टी रही है। और उसे सपा जैसी पार्टी के होने ने होने नो से कोई फर्क नहीं पड़ता है। साथ ही कांग्रेस का ये भी कहना है कि हम जमींनी तौर पर जनता से जुड़े रहे हैं। और ऐसे में हम किसी के साथ गठंबधन करके अपने पैरों में कुल्हाड़ी नही मारना चाहते हैं।

 

आपको बता दें अखिलेश यादव के गठबंधन से इनकार की बात को कांग्रेस हल्के में लेकर चल रही है उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने कहा कि हम जमींन पर अपने संगठन को मजबूत करने में लगे हों।  अभी हमारा पूरा फोकस पार्टी को मजबूत करने पर है, जहां तक महागठबंधन की बात है तो उस पर कांग्रेस की केंद्रीय लीडरशिप फैसला करेगी।

अखिलेश-राहुल की दोस्ती में पड़ती दरार को लेकर बीजेपी ने तंज कसना शुरू कर दिया है. बीजेपी ने कहा कि गठबंधन में दरारें आ गई हैं। इस बात पर कांग्रेस ने कहा है कि बीजेपी के दृष्टिकोण में ही दरारें हैं इसलिए उन्हें हर जगह टूट नजर आती है। बहरहाल मामल जो भी हो दो योरं का यारी तो टूट गई है।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: