शुक्रवार, 15 दिसम्बर 2017 | 08:10 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
दूसरे चरण में करीब 68-70 प्रतिशत मतदान रहा।           दूसरे चरण में 93 सीटों के चुनावों के लिए वोट डाले गये।          गुजरात के दूसरे चरण के चुनावों का इंतजार खत्म हुआ।          मुंबई महानगरपालिका के वार्ड नंबर 21 में उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने जीत दर्ज की।          गुजरात विधानसभा चुनाव में लालकृष्ण आडवाणी ने गांधीनगर में वोट डाला।          पीएम मोदी ने देश को किया समर्पित: पनडुब्बी आईएनएस कलवरी           स्कॉर्पियन सीरीज की पहली पनडुब्बी आईएनएस कलवरी आज भारतीय नौसेना में शामिल।          गुजरात के साबरमती में वोटिंग के लिए पहुंचे पीएम मोदी।          18 दिसंबर को होगा फैसला: भाजपा या कांग्रेस          विराट कोहली और अनुष्का का दिल्ली में 21 दिसंबर और मुंबई में 26 दिसंबर को इंतजार।          अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी निर्विरोध चुने गए।          कांग्रेस अध्यक्ष पद के दिए 16 दिसंबर का इंतजार ।         
होम | देश | आरुषि हत्याकांड मामले में कोर्ट ने तलवार दंपत्ति को किया बरी

आरुषि हत्याकांड मामले में कोर्ट ने तलवार दंपत्ति को किया बरी


सबसे अधिक बहुचर्चित और रहस्यमयी आरूषि मर्डर केस की गुत्थी आखिरकार सुलझ गई है। आखिरकार इस हत्या के केस में उम्रकैद की सजा काट रहे आरुषि के माता-पिता को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बेगुनाह करार देते हुए बरी कर दिया है। क्योंकि सीबीआई कोर्ट ने तलवार दंपत्ति को 26 नवंबर 2013 में अपनी बेटी की हत्या के आरोप में उम्रकैद की सजा सुनाई थी। जिसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया थालेकिन बाद में उन्होंने सीबीआई कोर्ट के फैसले को इलाहाबाद हाई कोर्ट में चैलेंज किया था। जिसमें फैसला सुनाते हुए आखिरकार हाईकोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया है।

दरअसल जब उन्हें उम्र कैद की सजा सुनाई गई थीउस वक्त मामला निचली अदालत में था, ऊपर से मीडिया में लगातार खबरें दिखाने के कारण निचली अदालत पर भी प्रेशर थाजिसके कारण उस वक्त उन्हें सजा सुनाई गई। लेकिन बाद में जब उन्होंने इलाहाबाद हाईकोर्ट में अपील कीतब जांच एजेंसियों में फिर से नए सिरे से जांच शुरु की थीलेकिन सबूत नहीं मिलने के कारण उन्हें अब बरी कर दिया गया। लेकिन अब इसके बाद ये भी खबरें आ रही हैं कि सीबीआई हाईकोर्ट में केस हारने के बाद अब फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चैलेंज करने का मन बना रहा है, और उम्मीद है कि जल्द ही सीबीआई मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट जा सकती है।

लेकिन, इन सबके बीच अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि अगर आरुषि के माता पिता ने उसकी हत्या नहीं की, तो किसने की।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: