शनिवार, 24 जून 2017 | 03:57 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
होम | क्राइम

क्राइम

पांच साल की बच्ची ने बार्बी डॉल को बताई दुष्कर्म की सच्चाई

एक पांच साल की गुड़िया से दुष्कर्म से आपबीती जानने के लिए दिल्ली की निचली कोर्ट ने अपनाया अनूठा तरीका..... और पढ़ें »

बैंक पर टूटा चोरों का कहर

मेरठ हाईवे पर कपड़ा मिल परिसर स्थित पंजाब नेशनल बैंक की शाखा में सेंध लगाकर..... और पढ़ें »

फतेहपुर नहर में इनोवा कार के गिरने से 10 लोगों की मौत

उत्तर-प्रदेश के मथुरा में दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है, जहां... और पढ़ें »

मुम्बई इंसपेक्टर की पत्नी की बडी बेरहमी से हत्या

मुम्बई में चर्चित शीना मर्डर मिस्ट्री जिसकी आरोपी इंद्राणी मुर्खजी को जेल भेज दिया.... और पढ़ें »

तेज रफ्तार से कार चलाने और लापरवाही के आरोप के बाद बांग्ला अभिनेता विक्रम ने किया सरेंडर

कोलकाता में बीते दिनों हुई मॉडल-टीवी एंकर सोनिका सिंह चौहान की मौत के मामले में... और पढ़ें »

तेल चोरी के काले कारोबार का खुलासा हुआ है,सक की सुई तेल कंपनियों और अधिकारीयों पर

काला बाजारी बड़ा अजीब नाम है।एक तो काला ऊपर से बाजार जाहॉ हर तरह की वस्तु बिकती है,और मिलती है। इसी बाजार में बहुत से काले कारोबारी भी है। जो बहुत सी वस्तुओं का गैरकानूनी तौर से व्यपार करते है।जिसमें से एक व्यपार है, पेट्रोल का पेट्रोल व्यपार से ही जुड़ी ऐसी ही एक खबर सुनने में आया है ,की तेल चोरी के काले कारोबार का खुलासा हुआ है। एसटीएफ के एसएसपी अमित पाठक की मानें तो तेल चोरी के मामले में राजेंद्र नाम का व्यक्ति पकड़ा गया है, अमित पाठक का कहना है की राजेंद्र एक मोहरा भर है।उनका कहना है, की जिस पैमाने पर यह कारोबार चल रहा था उससे लगता है कि कुछ और लोग इसमें शामिल हो सकते हैं। हालांकि यह पूरा मामला अब एसआईटी के हवाले है और जल्द ही वह जांच शुरू करेगी। साथ ही हम आपको यह भी बतादे की तेल चोरी के काले कारोबार के खुलासे के बाद अब उन अधिकारियों की गर्दन फंसती नजर आ रही है जिनकी जिम्मेदारी इन पेट्रोल पंपों पर निगाह रखने की होती थी।साथ ही अधिकारियों पर सक जताते हुए बाट माप विभाग के अलावा आपूर्ति विभाग और तेल कंपनियों के अधिकारियों की मिलीभगत की भी जांच होगी। अब सवाल यह भी उठता है की आखिर इन अधिकारीयो पर सक करने की वजह क्या है,तो हम आपको यह भी स्पष्ट कर दे की अमित पाठक के मुताबिक बिना अधिकारियों की मिलीभगत के खेल संभव नहीं। अब एसा क्यों तो इसकी वजह यह है की इस पूरे ऑपरेशन को अंजाम देने वाली टीम के एक सदस्य ने बताया कि पेट्रोल पंपों की तीन स्तर पर जांच विभिन्न विभागों द्वारा की जाती है। इन मशीनों की सील तोड़े बिना यह चिप लगा पाना संभव नहीं है। सील बिना बाट माप निरीक्षक के खोली ही नहीं जा सकती। ऐसे में सबसे पहले सक की अंगुली, बांट माप निरीक्षक पर उठ रही है। अब जो दुसरी सक की उगली उठती है। वो है तेल कंपनियॉ ,तेल कंपनियों की जिम्मेदारी होती है स्टॉक चेक करें और कालाबाजारी रोकें। इसकी दो तरह से जांच कराई जाती है। पहले स्टॉक रजिस्टर के जरिये और दूसरा डिप रॉड के जरिये टैंक में मौजूद तेल की मात्रा से। रॉड पर सेंटीमीटर का निशान बना होता है। काला बाजारी बड़ा अजीब नाम है।एक तो काला ऊपर से बाजार जाहॉ हर तरह की ....... और पढ़ें »

चिल्लाया नौरक, हैरान हुए परिवार वाले, मासूम बच्चे के पीठ पर चोट का था निशान

सरकार की कई कड़े कानून व्यवस्था बनाने के बाबजूद भी स्कुलो में बच्चो पे गलती करने पर पनीशमेंट के नाम पर ....... और पढ़ें »

बाजार गई बेटी को देर से घर लौटने पर मां सकते में

नैनीताल में शहरी क्षेत्र की एक नाबालिग को बाजार से घर लौटते समय... और पढ़ें »

बैंक में कितने सुरक्षित हैं आपके अकाउंट्स

दिल्ली समेत कई इलाकों में पिछले दिनों ऑनलाइन ठगी के मामलों के बाद अब... और पढ़ें »

पटना से यूपी के मुगलसराय के लिए रवाना हुई बक्सर ट्रेन का ड्राइवर गायब

बिहार के पटना से यूपी के मुगलसराय के लिए रवाना हुई बक्सर ट्रेन में डाईवर के... और पढ़ें »

प्यार में अंधे पति ने की पत्नी की हत्या की कोशिश

बिहार क दरभंगा जिले पत्नी से बेइन्तहां प्यार करने वाले पती ने... और पढ़ें »

दिल्ली में हुई फायरिंग से मचा हड़कंप

चिराग दिल्ली के मिलेनियम पार्क में बीती रात हुई फायरिंग से... और पढ़ें »

पश्चिम बंगाल में अंधविश्वासी बेटे ने दी अपनी ही मां की बली

21वीं सदी के दौर में लोगों फैले अंधविश्वास का अंदाज़ा पश्चिम बंगाल के पुरूलिया से... और पढ़ें »

दिल्ली के गीता कॉलोनी में जर्मन नागरित के साथ लूटपाट के इरादे से हमला

दिल्ली में लूटपाट की वारदात को अंजाम देने वाला गिरोह... और पढ़ें »
© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: